इस हरियाली अमावस्या पर करें ये पूजा और उपाय, हर संकट होगा दूर

tantra solution
भूत-प्रेत-पिशाच, चुड़ैल आदि बाधाओं से मुक्ति पाने के लिए अचूक मंत्र प्रयोग
July 22, 2017
प्रेमिका के अन्य पुरुषों से प्रेम संबंध समाप्त करने के लिए तंत्र प्रयोग, उसी दिन होता है लाभ
July 25, 2017
लक्ष्मीजी का करें पूजन

हर साल सावन के महीने में आने वाली हरियाली अमावस्या इस बार बहुत खास बन रही है। इस बार हरियाली अमावस्या 23 जुलाई रविवार को है और इस दिन पुष्य नक्षत्र है। इस नक्षत्र में किए गए उपाय सभी कष्टों तथा संकटों को तुरंत दूर कर देते हैं

पुष्य नक्षत्र रविवार सुबह 9:53 से शुरू होगा, जो सोमवार सुबह 7:42 तक रहेगा। हरियाली अमावस्या पर पुष्य नक्षत्र में भगवान शिव की पूजा करने तथा अपने पितरों के तर्पण करने से साधक पर आए समस्त कष्ट सहज ही दूर हो जाते हैं। विद्वान ज्योतिषियों के अनुसार पुष्य नक्षत्र में किया गया तर्पण पितरों को तृप्त कर देता है, जिससे उनका आशीर्वाद तथा पुण्य प्राप्त होता है।

लक्ष्मीजी का करें पूजन

इसके अतिरिक्त रविवार की रात को लक्ष्मीजी का पूजन भी अवश्य करें। इससे दरिद्रता दूर होती है और सभी प्रकार की सुख-संपत्ति आती है। पुष्य नक्षत्र का स्वामी शनि ग्रह होने के कारण इस दिन की गई खरीददारी स्थाई होती है। अतः इस दिन भूमि, भवन, स्वर्ण-चांदी के आभूषण आदि क्रय करने चाहिए।

हरियाली अमावस्या पर करें ये उपाय

(1) हरियाली अमावस्या पर भगवान शिव को काले तिल चढ़ा कर उनका जलाभिषेक करें। इससे समस्त कष्ट दूर होते हैं।
(2) भोलेनाथ को चंदन का लेप लगाएं तथा दूध का भोग लगाने से भी समस्त कष्टों से मुक्ति मिलती है।
(3) इस दिन रात को लघु महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से समस्त रोगों से मुक्ति मिलती है।
(4) इस दिन शिव शंकर का 1001 बिल्व पत्र चढ़ाते हुए ऊँ नमः शिवाय मंत्र का जप करने से राहु, केतु तथा अन्य ग्रहों द्वारा मिल रहा कष्ट शांत होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Feedback
error: Content is protected !!